ऋषिकेश। यह वही जगह है जहां बीटल्‍स (साठ के दशक का अत्‍यंत लोकप्रिय चार सदस्‍यीय ब्रिटिश रॉक बैंड) ने 48 गीत लिखे और ध्‍यान करना सीखा। अब इस जगह की सफाई करवाई जा रही है और इसे पयर्टन स्‍थल के रूप में तब्‍दील किया जा रहा है। हिमालय की तलहटी में बसी यह जगह जहां फेब फोर (प्रशंसकों द्वारा बीटल्‍स को दिया जाने वाला प्रसिद्ध संबोधन) ने महर्षि महेश योगी से भावातीत ध्‍यान सीखा, बरसों से उपेक्षित पड़ी थी लेकिन अब इसका जीर्णोद्धार किया जाएगा।

बीटल्‍स ने महर्षि महेश योगी के ऋषिकेश स्थित आश्रम का 1968 में भ्रमण किया था। बैंड के जॉन लेनन, पॉल मकार्टनी, जार्ज हैरिसन और रिंगो स्‍टार यहां इग्‍लूनुमा आकार की चौरासी कुटिया आश्रम में रुके थे। महर्षि महेश योगी ने भावातीत ध्‍यान की तकनीक ईजाद की और वे एक विश्‍वव्‍यापी संगठन के प्रमुख थे। साठ के दशक के अंत व सत्‍तर के दशक के आरंभ में महर्षि ने बीटल्‍स के गुरु के रूप में ख्‍याति अर्जित की।

जब बीटल्‍स उनके आश्रम में थे तब उन्‍होंने तकरीबन 48 गीत लिख डाले जिनमें "बैक इन यूएसएसआर", "डियर प्रूडेंस" (मेया फेरो की बहन के लिए लिखा गया गीत जो कि उस समय आश्रम में ठहरी थी) और "आई एम सो टायर्ड" (जिसे लेनन ने आश्रम में तीन सप्‍ताह तक अनिद्रा की तकलीफ के चलते लिखा था) शामिल हैं। जिस जमीन का महर्षि ने उपयोग किया वह उत्‍तप्रदेश के वनमंत्री ने बीस साल की लीज पर दी थी। जब इसकी मियाद समाप्‍त हो गई तब महर्षि नीदरलैंड चले गए और सरकार ने जमीन वापस ले ली।

यह संपत्ति इतने दिनों से लावारिस पड़ी थी लेकिन अब उत्‍त्‍राखंड सरकार इस आश्रम के उद्धार के साथ ही इसे पर्यटन स्‍थल के रूप में विकसित करने की योजना बना रही है। इस प्रोजेक्‍ट में एक छोटा संग्रहालय होगा जिसमें बीटल्‍स की 1968 की विजिट की तस्‍वीरें आश्रम के हॉल में होंगी। राजाजी नेशनल पार्क स्थित आश्रम की निदेशक नीना ग्रेवाल ने कहा कि हम बीटल्‍स के इस आश्रम से जुड़ाव को दोबारा चर्चा में लाना चाहते हैं, क्‍योंकि ढेर सारे पयर्टक यहां केवल इसी बात के लिए आते हैं।

हम चौरासी कुटिया में ईको-टूरिज्‍म को बढ़ावा देने के लिए झोपडि़यों का कायाकल्‍प करेंगे। शासन को जल्‍द ही इसका विस्‍तृत प्रस्‍ताव भेजा जाएगा। कनाडा के फिल्‍म निर्माता व निर्देशक पॉल सैज़मैन भी आश्रम में बीटल्‍स के साथ ठहरे थे। उन्‍होंने बीटल्‍स के अनुभवों पर किताब लिखी है। उत्‍त्‍राखंड सरकार के इस विचार का उन्‍होंने स्‍वागत किया है।

Posted By: