Gaza Strip Fire। गाजा पट्टी में एक इमारत में भीषण आग लगने से करीब 21 लोगों की मौत हो गई है। मिली जानकारी के मुताबिक उत्तरी गाजा पट्टी में जबालिया शरणार्थी शिविर में आग से तबाह हुए एक अपार्टमेंट में जलने से 21 लोगों की मौत हो गई। गाजा के आंतरिक मंत्रालय ने कहा कि प्रारंभिक जांच से पता चला है कि घटना स्थल पर बड़ी मात्रा में गैसोलीन जमा किया गया था, जिससे इमारत में आग लग गई। स्वास्थ्य और नागरिक आपात अधिकारियों ने जानकारी दी है कि घनी आबादी वाले जाबालिया शरणार्थी शिविर में एक चार मंजिला रिहायशी इमारत की ऊपरी मंजिल में लगी भीषण लगी थी, जिस काबू करने में दमकल कर्मियों को एक घंटे से अधिक का समय लग गया।

घायलों को अस्पताल पहुंचाया

एंबुलेंस से जरिए कई घायल लोगों को स्थानीय अस्पतालों में पहुंचाया गया है। वहीं दूसरी ओर इज़राइल ने भी कहा है कि वह यह चिकित्सा उपचार की आवश्यकता वाले लोगों को अनुमति देगा रास्ता खोल देगा। गौरतलब है कि इजराइल मिस्र के साथ मिलकर गाजा पर नाकाबंदी रखता है। प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि वे चीख-पुकार सुन सकते थे लेकिन आग की तीव्रता के कारण वे अंदर मौजूद लोगों की मदद नहीं कर सके।

फ़िलिस्तीनी राष्ट्रपति ने बताया राष्ट्रीय त्रासदी

फ़िलिस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने इस हादसा को राष्ट्रीय त्रासदी बताते हुए एक दिन शोक घोषित किया है। फिलिस्तीन लिबरेशन ऑर्गनाइजेशन (पीएलओ) की कार्यकारी समिति के महासचिव हुसैन अल-शेख ने कहा है कि फिलिस्तीनी प्राधिकरण ने इजरायल से आग्रह किया कि वह गाजा के साथ इरेज़ क्रॉसिंग को खोले ताकि गंभीर हालत में जले लोगों को बाहर ले जाया जा सके। वहीं हुसैल अल शेख ने ट्विटर कर कहा है कि राष्ट्रपति ने तत्काल सभी प्रकार की चिकित्सा और अन्य सहायता प्रदान करने के निर्देश दिए।

संयुक्त राष्ट्र के शांति दूत ने भी जताया दुख

इस बीच संयुक्त राष्ट्र के मध्य पूर्व शांति दूत टोर वेन्सलैंड ने ट्विटर पर घटना में मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की। आपको बता दें कि जाबलिया गाजा में शरणार्थी शिविरों में से एक है, जहां 2.3 मिलियन लोग रहते हैं और दुनिया के सबसे घनी आबादी वाले क्षेत्रों में से एक है।

Posted By: Sandeep Chourey

  • Font Size
  • Close