RBI MPC Meet: रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की तीन दिनी मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी की बैठक का गुरुवार को आखिरी दिन था। बैठक में लिए गए फैसलों के बारे में आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने बताया कि रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया गया है। यानी अब ब्याज दरों में और कटौती नहीं होगी। रेपो रेट यहां 4 फीसदी ही रखी गई, वहीं रिवर्स रेपो रेट 3.35 फीसदी पर बरकरार है। शक्तिकांत दास ने बताया कि भारतीय अर्थव्यवस्था में रिकवरी शुरू हो गई है। हालांकि Q2 में ऊंची महंगाई दर का अनुमान लगाया गया है।

आरबीआई के इस फैसले का शेयर बाजार पर सकारात्मक असर देखने को मिला। दिन में 1.13 बजे सेंसेक्स 525 अंकों की तेजी के साथ 38,188 पर रहा, वहीं निफ्टी में 143 अंकों की बढ़त के साथ 11245 पर ट्रेडिंग हुई।

आरबीआई गवर्नर ने यह भी कहा कि आने वाले वक्त में अर्थव्यवस्था के पटरी पर लौटने की उम्मीद अभी भी कम ही है और ये बुरी खबर इसलिए है क्योंकि कोविड-19 काे मामलों में कमी की बजाए बढ़ोतरी हो रही है।

बता दें, कोरोना महामारी और लॉकडाउन के कारण बने हालात के बाद मार्च से लेकर अब तक आरबीआई रेपो रेट में 115 बेसिस पॉइंट की कमी कर चुका है। वहीं फरवरी 2019 से देखा जाए तो यह कमी 250 बेसिस पॉइंट तक पहुंच गई है।

इससे पहले मार्च में MPC की बैठक हुई थी। हालांकि तब बैठक पूर्वनिर्धारित नहीं थी, लेकिन अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए बैठक हुई और रेपो रेट में 75 बेसिस पॉइन्ट की कमी करते हुए इसे 4.4 फीसदी तक कम कर दिया गया। इसके बाद अगली बैठक भी जून में होना थी, लेकिन इसे 20 मई को ही पूरा कर लिया गया। तब 40 बेसिस पॉइंट की कटौती के साथ रेपो रेट को 4 फीसदी कर दिया गया। कुल मिलाकर फरवरी के बाद से रेपो रेट में 1.5 फीसदी की कटौती हो चुकी है। इसके बाद बैंकों ने भी नए कर्ज पर 0.72 फीसदी तक ब्याज घटाया है। हालांकि जानकार रह रहे हैं कि आरबीआई के इन कदमों का अर्थव्यवस्था पर खास असर नहीं पड़ा है।

यह बैठक ऐसे समय हुई जब एक ओर मंहगाई बढ़ रही है और दूसरी ओर उद्योग की जगत की ओर से लोन री-स्ट्रक्चरिंग की मांग जोर-शोर से उठ रही है। ताजा आंकड़ों के अनुसार, खुदरा मंहगाई दर 6 फीसदी से अधिक हो चुकी है। यही कारण है कि आरबीआई रेपो रेट कटौती के सिलसिले को रोक सकता है।

यहां भी क्लिक करें: सोने के आभूषण पर अब 90 फीसदी तक लोन मिलेगा, जानिए नए नियम

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020