अंबिकापुर (ब्यूरो)। छत्तीसगढ़ सरकार की यूनिवर्सल हेल्थ स्कीम पूरे देश में लागू हो सकती है। नीति आयोग के बाद अब केंद्र सरकार ने भी इसकी सराहना की है। छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने बताया कि यूनिवर्सल हेल्थ केयर को केंद्र सरकार पूरे देश में लागू कर सकती है।

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने यूनिवर्सल हेल्थ स्कीम को लेकर कई ट्वीट भी किए हैं। उनके ट्वीट में यह बातें भी है कि अमेरिका, इंग्लैंड व आस्ट्रेलिया जैसे दुनिया के कई देशों में यूनिवर्सल हेल्थ स्कीम को डब्ल्यूएचओ ने स्वीकारा है। भारत में भी यह स्कीम अहम भूमिका निभा सकता है।

छत्तीसगढ़ यूनिवर्सल हेल्थ केयर की गूंज दिल्ली तक पहुंच चुकी है। इतना ही नहीं इस दिशा में केंद्र सरकार ने भीइस हेल्थ स्कीम को स्वीकार करते हुए देशभर में लागू करने पहल शुरू कर दी है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने भी इसको लेकर लगातार कई ट्वीट किए हैं।

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव कहा कि नीति आयोग की अनुशंसा पर केंद्र सरकार ने भी मरीजों के यूनिक आइडी प्रोजेक्ट को आगे ले जाने की बात कही थी। जिसे पूरा करने की जिम्मेदारी आधार नंबर की संस्था यूएआइडी को दी गई है। इस प्रोजेक्ट की पहली रिपोर्ट भी आ गई है, जिसे सार्वजनिक किया जाएगा। सिंहदेव ने बताया कि केंद्र सरकार ने 15 जुलाई को इसके लिए सर्कुलर भी जारी किया था। अब छत्तीसगढ़ सरकार को यह काम करने का अवसर मिला है।

यह है पायलट प्रोजेक्ट

मंत्री सिंहदेव ने इसे अपना ड्रीम प्रोजेक्ट बनाया है। इसका शुभारंभ 24 अप्रैल को सरगुजा जिले के लुण्ड्रा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से स्वास्थ्य मंत्री ने किया था। अब इस योजना को केंद्र सरकार पूरे देश में लागू कर सकती है।

सभी मरीज की ऑनलाइन फीड होगी जानकारी

स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने बताया कि यूनिवर्सल हेल्थ केयर में हर मरीज का अलग-अलग पर्सनल यूनिक नंबर जनरेट होगा। उस नंबर के जरिये मरीज के इलाज की संपूर्ण जानकारी ऑनलाइन फीड की जाएगी, जिससे एक ही मरीज का बार-बार चेकअप न कराया जाए। इससे दूसरी जगह पर भी चिकित्सक यूनिक नबंर से मरीज के पूर्व जांच और इलाज की जानकारी ले सकेंगे।