बालोद। कायाकल्प स्वच्छ अस्पताल योजना 2020-21 के अंतर्गत जिला चिकित्सालय बालोद ने 80 प्रतिशत अंक हासिल किया है। योजना के अंतर्गत बालोद जिला चिकित्सालय ने सांत्वना पुरस्कार प्राप्त किया है। योजना में प्रदेशभर के 18 जिला अस्पताल, 32 सिविल स्वच्छ अस्पताल व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, 160 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, 19 शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र एवं 151 उप स्वास्थ्य केन्द्रों (हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर) के द्वारा 70 प्रतिशत या अधिक अंक हासिल किया है। जल्द ही राज्य स्तर पर कायाकल्प अवार्ड समारोह के आयोजन में बालोद जिला चिकित्सालय को पुरुस्कृत किया जाएगा। बेहतर प्रदर्शन के लिए 3 लाख रुपये की राशि भी मिलेगी।

कायाकल्प योजना यानी स्वच्छ अस्पताल योजना में शासकीय अस्पतालों एवं स्वास्थ्य केंद्रों में स्वछता, संक्रमण नियंत्रण एवं साफ-सफाई को बढ़ावा देने के लिए वर्ष 2015 से योजना प्रारंभ की गई है। इस योजना के तहत लोक स्वास्थ्य संस्थाओं में गुणवत्ता को बढ़ावा देने के लिए मानकों के अनुरुप सेवाएं प्रदाय किए जाने वाले अस्पतालों को राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर पर क्वालिटी सर्टिफिकेट प्रदान किया जाता है।

कई मानकों में खरा उतरना पड़ता है

योजना के तहत अस्पतालों को 6 मानकों जिसमें अस्पताल का रख-रखाव, साफ-सफाई, वेस्ट-प्रबंधन, संक्रमण नियंत्रण, सपोर्ट सुविधाएं, हायजीन प्रमोशन पर खरा उतरना पड़ता है। वहीं जिला चिकित्सालय श्रेणी में प्रथम पुरस्कार 50 लाख रुपये और द्वितीय 20 लाख रुपये और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को अलग-अलग श्रेणी के आधार पर पुरस्कार देने की योजना है। साथ ही स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले कर्मचारियों को भी पुरस्कृत किया जाता है।

योजना से संवरने लगे हैं अस्पताल

राज्य के सभी स्वास्थ्य केंद्रों में बेहतर सुविधाएं व रख रखाव सहित कई अन्य तरह की सेवाएं उपलब्ध कराने के उद्देश्य से सरकार की ओर से कायाकल्प योजना की शुरुआत की गई है। जिसके तहत अब कई अस्पताल संवरने लगे हैं। दरअसल केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सार्वजनिक स्वास्थ्य संस्थानों में साफ-सफाई और संक्रमण रोकने के लिए किए गए प्रयासों को बढ़ावा देने के लिए कायाकल्प योजना की शुरुआत की गई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local