बिलासपुर। Bilaspur RPF Patrol News: अहमदाबाद-हावड़ा (02833) स्पेशल ट्रेन में आरपीएफ को घर से भागे किशोर व किशारी मिले। सुरक्षा के मद्देनजर दोनों को बिलासपुर लाया गया। इसके बाद उन्हें चाइल्ड लाइन के सुपुर्द कर दिया गया। चाइल्ड लाइन स्वजनों से संपर्क करेगी और उन्हें सौंप दिया जाएगा। मामला रविवार देर रात की है। आरपीएफ के प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त एएन सिन्हा व मंडल सुरक्षा आयुक्त ऋषि कुमार शुक्ला के निर्देशन में रेलवे के संपर्क में आए महिला व बच्चों की देखभाल और संरक्षण के संबंध में लगातार अभियान चलाया जा रहा है।

ट्रेन हो या स्टेशन गश्त के दौरान ऐसे लोगों पर भी आरपीएफ की विशेष नजर रहती है। इतना ही नहीं जरा से अभास होने पर उनसे जानकारी ली जाती है, ताकि गुमशुदा न हो जाएं। अहमदाबाद- हावड़ा स्पेशल ट्रेन में भी रविवार की रात रेलवे सुरक्षा बल बिलासपुर पोस्ट की टीम जांच कर रही थी। ट्रेन अभी रायगढ़ रेलवे स्टेशन पहुंची थी कि एस- 9 कोच के कारिडोर में ये दोनों नाबालिग नजर आए। उनकी उम्र देख गश्त दल को संदेह हुआ। उन्होंने सबसे पहले टिकट पूछा।

पर उनके पास ट्रेन का टिकट नहीं था। इस दौरान जब और पूछताछ की गई तब उन्होंने घर से भागना स्वीकार किया। आरपीएफ गश्त ने इसकी जानकारी पोस्ट में दी। उन्होंने दोनों को बिलासपुर लाने के लिए कहा। इस पर दल ने दोनों को रायगढ़ स्टेशन में उतारा। इसके बाद हावड़ा- पुणे आजाद हिंद स्पेशल ट्रेन से लेकर बिलासपुर पहुंचे।

दोनों पश्चिम बंगाल अंतर्गत मुर्शिदाबाद जिले के रहने वाले हैं। ट्रेन हावड़ा ही जा रही थी। पर उनके घर से भागने की पुष्टि हो चुकी थी। इसलिए आरपीएफ ने किसी तरह जोखिम नहीं उठाया। पोस्ट पहुंचने के बाद दोनों से जानकारी ली गई। इसके बाद चाइल्ड लाइन के सुपुर्द कर दिया गया। अब चाइल्ड लाइन ही स्वजनों को सौंपेगी।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local