बिलासपुर। Kidnapping Of Children: लुतरा से कुछ बच्चों को अपने साथ ले गए। इसके बाद ग्रामीण इसकी शिकायत लेकर एसपी कार्यालय पहुंच गए। जांच के दौरान पता चला कि चाइल्ड लाइन ने बच्चों को घुमंतू समझकर उठा लिया है। इसके बाद पुलिस और ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है। सीपत क्षेत्र से दर्जनभर ग्रामीण सोमवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे। उन्होंने बताया कि उनके बच्चे लुतरा शरीफ से गायब हो गए हैं।

आसपास के लोगों ने उन्हें बताया कि कुछ लोग आए थे और खुद को सरकारी अफसर बताते हुए उनके बच्चों को अपने साथ ले गए। जिनकी जानकारी निकालने के लिए वे पुलिस थाने भी पहुंचे, लेकिन वहां भी उन्हें उनके बच्चों के बारे में जानकारी नहीं मिल सकी। परिजनों ने बताया कि वे लोग गरीब वर्ग के हैं और दर्शन करने लुतरा आए हुए थे। यहां से उनके बच्चों को कुछ लोग खुद को सरकारी अधिकारी बताते हुए ले गए हैं। शिकायत पर एसपी दीपक झा ने महिला एवं बाल कल्याण विभाग से भी जानकारी ली।

इस दौरान पता चलाा कि घुमंतू और भिक्षावृत्ति में शामिल बच्चों को सीडब्लूसी ने अपने पास रखा है। इसकी जानकारी मिलने पर बच्चों के स्वजन ने राहत की सांस ली। साथ ही अधिकारियों पर आरोप लगाया कि बच्चों को लाने के दौरान उन्होंने स्थानीय पुलिस और गांव के प्रमुखों को इसकी जानकारी नहीं दी थीं।

41 बच्चों का किया गया रेस्क्यू, संस्था करेगी देखरेख

बाल श्रमिक, अपशिष्ट संग्रहक, भिक्षावृत्ति करने वाले बच्चों का पुलिस और महिला एवं बाल कल्याण विभाग ने मिलकर रेस्क्यू कर रहे हैं। यह अभियान 31 अगस्त से छह सितंबर तक चलाया गया। इसमें 27 बालिका व 14 बालकों का रेस्क्यू करके बाल कल्याण समिति के आदेश से पुनर्वास केंद्र एवं बाल देखरेख संस्था में रखा गया है। ऐसे बच्चों के पढ़ाई-लिखाई कराकर उनके जीवन स्तर को बढ़ाने की कोशिश की जा रही है।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local