बिलासपुर। मुंगेली कलेक्टर अजीत वसंत के निर्देशन में जिले में सड़क पर रहकर बालश्रम, बाल भिक्षावृत्ति में लिप्त रहने वाले बच्चों के संरक्षण के लिए संरक्षण अभियान चलाया जा रहा है।

महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी अभिलाष बेहार ने बताया कि संरक्षण अभियान उच्चतम न्यायालय में प्रचलित जनहित याचिका के परिप्रेक्ष्य में जिला बाल संरक्षण इकाई मबावि,पुलिस विभाग ,श्रम विभाग एवं चाइल्डलाइन के संयुक्त टीम द्वारा चलाया जा रहा है। सड़क पर रहने वाले ऐेसे बच्चे जो अपनी उत्तजीविता,भोजन ,पानी,वस्त्र,आश्रय एवं संरक्षण के लिए प्रतिदिन विभिन्न् प्रकार के संघर्षों एवं चुनौतियों का सामना करते हैं हैं। इन बच्चों के चिन्हांकन, संरक्षण एवं पुनर्वास के लिए एसओपी अनुसार चरणबद्ध कार्रवाई की जा रही है।

इसी कड़ी में लोरमी थाना क्षेत्र के ग्राम में भिक्षावृत्ति करते हुए दो बालक पाए गए। रेस्क्यू किए गए बालकों को बालक कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत कर उनके माता-पिता के सुपुर्द किया गया और ग्राम सरपंच को बच्चों के संरक्षण की जिम्मेदारी दी गई साथ ही उनके परिवार को शासन की विभिन्न् शासकीय योजनाओं का लाभ दिलाने एवं प्रशिक्षण एवं रोजगार की व्यवस्था के लिए भी कहा गया। जिला बाल संरक्षण अधिकारी अंजूबाला श्ाुक्ला ने कहा कि बच्चों से भिक्षावृत्ति नहीं मंगवाने तथा उन्हें शिक्षा का अधिकार देने की अपील की है।इस दौरान बालक कल्याण समिति,चाइल्ड लाईन,जिला बाल संरक्षण इकाई के अधिकारी-कर्मचारी एवं ग्रामवासी उपस्थित थे।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close