जगदलपुर। भारतीय रेलवे की वन स्टेशन वन प्रोडक्ट स्कीम में जगदलपुर स्टेशन भी शामिल हो गया है। बुधवार को स्टेशन में बस्तर के प्रसिद्ध बेलमेटल शिल्प जिसे स्थानीय स्तर पर ढ़ोकरा आर्ट भी कहा जाता है के उत्पादों की दुकान का स्टेशन प्रबंधक एमआर नायक ने उद्घाटन किया। इस मौके पर रेलवे के वाणिज्य विभाग के स्थानीय अधिकारी कर्मचारी भी मौजूद थे। दुकान का संचालन केंद्रीय जनजातीय कार्य मंत्रालय के अधीन ट्राइफेड संस्था द्वारा किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार ने वित्तीय वर्ष 2022-2023 के आम बजट में वन स्टेशन वन प्रोडक्ट के तहत पहले साल देश भर में एक हजार स्टेशनों का चयन किया है। इसमें वाल्टेयर रेलमंडल के अंतर्गत विशाखापटनम, विजयनगरम, रायगढ़ा, कोरापुट, जगदलपुर आदि 15 स्टेशन शामिल किए गए हैं। इसका उद्देश्य स्थानीय स्तर किसी प्रमुख उत्पाद के लिए बाजार उपलब्ध कराने के साथ ही रोजगार का अवसर भी देना है। बस्तर की आदिवासी हस्तशिल्पकला की देश दुनिया में प्रसिद्धि को देखते हुए बेलमेटल को चुना गया है। अभी प्रदर्शन के तौर पर स्टेशन में दुकान खोले जा रहे हैं।

15 दिनों के लिए मात्र एक हजार रुपये का शुल्क

रेलवे ने इसके लिए संबंधित व्यक्ति अथवा संस्था (दुकान के संचालक) से 15 दिनों के लिए मात्र एक हजार रुपये का शुल्क निर्धारित किया गया है। रेल अधिकारियों का कहना है कि बस्तर आने वाले पर्यटकों के लिए बेलमेटल शिल्प हमेशा से आकर्षण का केंद्र रहा है। बेलमेटल शिल्प तेयार करने में ज्यादातर घड़वा जाति के लोग जुटे हैं। नारायणपुर, चिलकुटी, नगरनार, तोकापाल, बस्तर आदि क्षेत्रों में बड़ी संख्या में शिल्पकार बेलमेटल की कलाकृतियां तैयार करते हैं। कोंडागांव बेलमेटल शिल्प के लिए देश भर में चर्चित है।

यात्रियों को भटकना नहीं पड़ेगा

स्टेशन में बेलमेटल शिल्प का विक्रय केंद्र खुलने से पर्यटकों को भी सुविधा उपलब्ध हो गई है। बेलमेटल शिल्प खरीदने के लिए पर्यटकों को शहर में यहां वहां भटकना नहीं पड़ेगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close