खरियार रोड। चाइल्ड लाइन नुआपड़ा ने एक निजी स्कूल के बस कंडक्टर शीलू बाग के गणेश नगर स्थित निवास स्थान से एक बंधक किशोरी को छुड़ाया है। चाइल्ड लाइन के अनुसार 16 वर्षीय किशोरी उसके अभिभावकों द्वारा लिए गए उधार की वजह से प्रताड़ित की जा रही थीं।

आरोपित परिवार उससे घर के काम करवाने के साथ साथ शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित करता था। रविवार दोपहर स्थानीय एनजीओ प्रतीक्षा एवं जोंक पुलिस की मदद से चाइल्ड लाइन ने उक्त परिवार के घर पर दबिश दी और किशोरी को छुड़ाया।

चाइल्ड लाइन के संयोजक मुकेश जोशी ने बताया कि प्रतीक्षा द्वारा दी गई सूचना के आधार पर कार्रवाई को अंजाम दिया गया है। जांच पूरी होने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। वहीं प्रतीक्षा के प्रमुख आर विजयराज एवं मुकेश श्रीवास्तव ने बताया कि किशोरी को छुड़वाने की गुहार के साथ उसकी मां व छोटी बहनें प्रतीक्षा के पास पहुंची थीं। घटना की पूरी जानकारी लेने के बाद प्रतीक्षा एनजीओ ने चाइल्ड लाइन को इसकी सूचना दी।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि कोरोना काल के दौरान किशोरी की मां ने आरोपित से कुछ रुपये उधार लिए थे। जिसे वह अदा नहीं कर पाई। इसके बदले में वे पिछले सालभर से उसकी नाबालिग बेटी से काम करवाते आ रहे थे। किशोरी की मां ने बताया कि उसकी बेटी को शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा था। इससे वह डरी सहमी व गुमसुम सी रहने लग गई।

इस मामले सब इंस्पेक्टर भारती नायक ने कहा है कि सूचना के आधार पर कार्रवाई को अंजाम दिया गया है। जांच के बाद ही पूरा मामला साफ हो पाएगा। चाइल्ड लाइन के अधिकारियों ने बताया कि किशोरी को चाइल्ड लाइन के शेल्टर होम ले जाया जा रहा है।

उसकी मेडिकल जांच व काउंसिलिंग करवाई जाएगी। कार्रवाई के दौरान चाइल्ड लाइन के संयोजक मुकेश जोशी, काउंसिलर होसना अख्तरी, टिकेश्वरी साहू, मनश्वनी साहू, दिनेश साहू, जोंक थाना की सब इंस्पेक्टर भारती नायक, प्रतीक्षा एनजीओ के आर विजयराज, मुकेश श्रीवास्तव आदि उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local