Chhattisgarh Politics on National Tribal Festival: रायपुर (राज्य ब्यूरो)। छत्तीसगढ़ में आयोजित राष्ट्रीय आदिवासी महोत्सव पर बयानो की बौछार शुरू हो गई है। भाजपा और कांग्रेस नेता एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं। पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने ट्वीट करके सरकार पर निशाना साधा है। चंद्राकर ने कहा कि नृत्य महोत्सव का आयोजन ठीक है, लेकिन समय उचित नहीं है। एक बार रोड सेफ्टी क्रिकेट में छत्तीसगढ़ कोरोना से बदहाल हो गया था। अब फिर विदेश से लोगों और लोगों की भीड़ आमंत्रित की जा रही है। कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया से चंद्राकर ने पूछा-क्या आप मुझसे सहमत हैंं।

  • मीडिया विभाग के अध्यक्ष ने कहा, आदिवासी संस्कृति के संरक्षण का कर रहे विरोध

कांग्रेस ने इसे आदिवासी संस्कृति के संरक्षण का विरोध बताया। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने पूछा कि भारतीय जनता पार्टी को आदिवासियों से इतनी चिढ़ क्यों है? भाजपा आदिवासी नृत्य महोत्सव पर सवाल खड़ा करके आदिवासी संस्कृति के संरक्षण का विरोध कर रही है।

शुक्ला ने कहा कि छत्तीसगढ़ में आदिवासी वर्ग की 32 प्रतिशत आबादी है। राज्य में विविध आदिवासी संस्कृतियां पुरातन समय से है। 15 साल तक छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी की सरकार थी। भाजपा ने कभी आदिवासी संस्कृति को बढ़ावा देने का प्रयास नहीं किया। आज जब मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार आदिवासियों की संस्कृति के साथ-साथ उनके आर्थिक, शैक्षणिक उन्न्ति के लिए प्रयास कर रही है, तो पीड़ा हो रही है। भाजपा आदिवासी नृत्य महोत्सव का विरोध इसलिए कर रही है, क्योंकि वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव में इस वर्ग की अधिकांश विधानसभा सीट भाजपा हार गई थी।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local