सुकमा। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के एर्राबोर थाना क्षेत्र अंतर्गत सोमवार की रात नक्सलियों ने जमकर उत्पात मचाया है। दारे नवीन नाम के युवक को मौत के घाट उतारने के बाद नक्सलियों ने गांव के आधा दर्जन ग्रामीणों की बेदम पिटाई की है। ग्रामीण युवक की हत्या करने के बाद नक्सलियों ने शव के पास पर्चा भी फेंका है जिसमें दारे नवीन पर अवैध जंगल कटाई और अवैध तरीके से भूमि पर कब्जा करने का आरोप लगाया है। नक्सलियों ने अपने पर्चे में 10 से अधिक गांव वालों का नाम लिखते हुए इसी तरह मौत के घाट उतारने की चेतावनी भी दी है।

घटना में घायल सोयम मुत्ता, सोयम मासे, पोड़ियम रामू, सोयम लच्छे और सोयम सोमी को कोंटा अस्पताल में भर्ती कराया गया। घायल सोयम मुत्ता और सोयम मासे की गंभीर हालत को देखते हुए जिला अस्पताल रिफर किया गया। जहां दोनों इलाज जारी है। घटना के बाद से गांव में दहशत का माहौल है। नक्सलियों की कोंटा एरिया कमेटी ने घटना को अंजाम दिया है। ऐर्राबोर थाना से करीब ढाई किमी दूर कोंगडम में रात करीब 8.30 और 9 बजे के बीच 30 से ज्यादा लाठी डंडो और हथियारों से लैस नक्सली पहुंचे और गांव को चारों ओर से घेर लिया।

सबसे पहले युवक दारे नवीन को घर से बाहर निकाला और पिटाई करना शुरू कर दिया। नक्सलियों ने पहले लाठी डंडे से बेदम पिटाई की और उसके बाद टंगिया से सिर पर वार कर मौत के घाट उतार दिया। युवक की हत्या के बाद नक्सली गांव के दूसरे ग्रामीणों के घर पहुंचे व जमकर उत्पात मचाया।

पोड़ियम रामू को मरा समझकर छोड़ गये नक्सली

युवक की हत्या करने के बाद नक्सली पास स्थित पोड़ियम रामू के घर पहुंचे। इस दौरान रामू घर में खाना खाने जा रहा था। नक्सलियोंं ने घर से बाहर घसीट कर निकाला और जमकर पिटाई कर दी। बताया जाता है कि पोड़ियम रामू का भाई डीआरजी में है। नक्सलियों ने बेरहमी से पोड़ियम रामू के पीठ और कमर में डंडों से पीटकर अधमरा कर दिया। उसके बाद सिर पर टंगिया से हमला किया। पोड़ियम रामू को मरा समझकर नक्सली उसे वहीं छोड़कर चले गये।

बीच बचाव करने आई पत्नी को भी पीटा

नक्सलियों ने ऐर्राबोर के कोंगड़म में जंगल कटाई और अवैध तरीके से भूमि कब्जा करने का आरोप लगाते हुए ग्रामीण दंपति की भी बेरहमी से पिटाई की है। सोयम मुत्ता की पिटाई के दौरान उसका बीच बचाव करने आई पत्नी सोयम मासे की भी नक्सलियों ने बेदम पीटा हैे। गंभीर रूप से घायल दंपति को बेहतर इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है। बताया जाता है कि सोयम मुत्ता पहले नक्सल गतिविधियों में शामिल था।

Posted By: Ravindra Thengdi

NaiDunia Local
NaiDunia Local