Madhya Pradesh Weather Update: भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। बारिश के लिए आसमान की तरफ ताक रहे लोगों के लिए राहत भरी खबर है। हवाओं का रुख बदलने के साथ ही मानसून ट्रफ भी मध्यप्रदेश के गुना, सागर और रतलाम से होकर गुजर रहा है। उधर 21 जुलाई को बंगाल की खाड़ी में भी एक कम दबाव का क्षेत्र बनने के संकेत मिले हैं। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक शनिवार को राजधानी सहित मालवा, निमाड़ के कुछ जिलों में गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ सकती हैं। रविवार से प्रदेश के अधिकांश जिलों में बारिश की गतिविधियों में तेजी आने की संभावना है। उधर शुक्रवार को जुलाई माह में इस बार दूसरी बार लू चली। इसके पूर्व छह जुलाई को ग्वालियर में लू चली थी।

मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को राजधानी का अधिकतम तापमान 33.7 डिग्रीसेल्सियस दर्ज किया गया। यह सामान्य से तीन डिग्रीसे. अधिक रहा। न्यूनतम तापमान 26.9 डिग्रीसे. रिकार्ड किया गया। यह भी सामान्य से तीन डिग्रीसे. अधिक रहा। मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया कि वर्तमान में मानसून ट्रफ प्रदेश के सागर, गुना और रतलाम से होकर बंगाल की खाड़ी तक जा रहा है। हवा का रुख भी दक्षिण-पूर्वी हो गई है। इससे वातावरण में नमी आने लगी है। तापमान बढ़ा हुआ रहने से शनिवार को दोपहर बाद राजधानी में गरज चमक के साथ बरसात हो सकती है। इसके अलावा होशंगाबाद, इंदौर, जबलपुर, रीवा, उज्जैन, सागर, ग्वालियर, चंबल संभाग के जिलों में कहीं-कहीं बौछारें पड़ सकती हैं।

बंगाल की खाड़ी में बनने जा रहा कम दबाव का क्षेत्र

मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि मौजूदा स्थिति को देखते हुए रविवार तक हवा का रुख दक्षिण-पश्चिमी होने की संभावना है। 21 जुलाई को बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र बनने जा रहा है। मानसून ट्रफ भी प्रदेश से गुजर रहा है। इस वजह से रविवार से प्रदेश में कई जिलों में बारिश का सिलसिला शुरू होने की संभावना है। 22 जुलाई से अनेक स्थानों पर अच्छी वर्षा होने की उम्मीद है।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close