दतिया (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिला न्यायाधीध व विधिक सेवा प्राधिकरण अध्यक्ष आरपी शर्मा के निर्देशानुसार व अपर जिला न्यायाधीश व सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मुकेश रावत के मार्गदर्शन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण दतिया द्वारा अलग-अलग स्थानों पर विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। इस दौरान न्यायाधीशों ने बच्चों को गुड टच व बैड टच के संबंध ने दी जानकारी दी। शासकीय प्राथमिक विद्यालय रामनगर सिविल लाइन में व्यवहार न्यायाधीश ऋचा गोयल ने प्राथमिक विद्यालय में चाइल्ड लाइन के सहयोग से विधिक साक्षरता शिविर में बताया कि बच्चे भगवान का अंश होते हैं। आज के समय में बच्चों के प्रति होने वाले अपराधों में काफी वृद्धि हुई है, जिससे बच्चों के साथ होने वाले उन अपराधों को रोकने में जागरूकता ही सबसे कारगर हथियार है। न्यायाधीश द्वारा बच्चों से गुड टच बैड टच के संबंध में जानकारी दी और बताया गया कोई भी आपको आपकी बिना मर्जी के नहीं छू सकता है। अगर कोई ऐसा करता है, तो आप विद्यालय में अपने शिक्षक व अपने परिवार के सदस्य को इसके बारे में बता सकते है। इस प्रकार न्यायाधीशगणों ने मूक बधिर आवासीय विद्यायल में विधिक साक्षारता शिविर आयोजितकर दिव्यांगों को दिव्यांग संबंधी कानून के बारे में जानकारी दी। इसके अलावा शासकीय विधि महाविद्यालय में जिला जज रमा जयंत मित्तल द्वारा विधिक साक्षारता शिविर के कानून के विद्यार्थियों को विभिन्ना कानून तथा इन कानून के माध्यम से किस प्रकार लोगों की मदद की जा सकती है, इसके बारे में विस्तार से समझाया। न्यायाधीश बच्चों को गुड टच व बैड टच के संबंध जानकारी देते हुए।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local