-15 साल की नाबालिग और 12 साल का नाबालिग ट्रेन से पहुंच गए थे ग्वालियर

Gwalior Missing Children News:ग्वालियर.नईदुनिया प्रतिनिधि। मां के साथ निकले नाबालिग बिछड गए और फिर ट्रेन से ग्वालियर पहुंच गए। दो अलग अलग मामलों में इन बच्चों की चाइल्ड लाइन ने काउंसिलिंग की और तब जाकर इनके घर का पता चला। प्रशासन अब इन बच्चों को ट्रेन से सुरक्षा में इनके घर कुशीनगर और सासाराम पहुंचाएगा। आठ दिन पहले कुशीनगर में रहने वाली 15 साल की नाबालिग ट्रेन से ग्वालियर स्टेशन पहुंच गई थी और मां के साथ काम की तलाश में निकली थी। इसी तरह एक 12 साल का नाबालिग भी मां के साथ सासाराम से निकला था और मां तो ट्रेन से उतर गई लेकिन बेटा नहीं उतर सका।

महिला एवं बाल विकास विभाग के असिस्टेंट डायरेक्टर शालीन शर्मा ने बताया कि कुशीनगर की 15 साल की नाबालिग अपनी मां के साथ काम की तलाश में निकली थी। पिता अब दुनिया में नहीं है। बहन दिल्ली में है। बुधवार को इस बच्ची को ट्रेन से टीम के साथ घर के लिए रवाना किया जाएगा। सासाराम का रहने वाला 12 साल का बेटा अपनी मां से ट्रेन में बिछड गया था और काउंसिलिंग के बाद स्वजन से बात हो गई। मंगलवार को इस बच्चे को ट्रेन से घर के लिए भेजा जाएगा। वहीं कुछ रोज पहले ग्वालियर में मिली नाबालिग बेटी को जौनपुर उप्र भेजा गया है जिसे जौनपुर में बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया गया।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local