कौशलपुर सहराना में चाइल्डलाइन ने आयोजित किया कार्यक्रम

श्योपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

चाइल्डलाइन टीम ने कौशलपुर का सहराना प्राथमिक विद्यालय व आदिवासी बस्ती में ओपन हाउस प्रोग्राम आयोजित कर बच्चों के अधिकारों के बारे में जानकारी दी। साथ ही स्वयं की सुरक्षा, स्वास्थ्य व स्वच्छता के बारे में भी जागरूक किया। कार्यक्रम में चाइल्ड लाइन समन्वयक विप्लव शर्मा ने बताया कि, 0 से 18 वर्ष को बच्चा माना जाता है। चाइल्ड लाइन विशेष रूप से इनके लिए काम करती है। एक आपातकालीन टेलीफोन सेवा है, जिसका निःशुल्क नंबर 1098 है, जो दुर्गम क्षेत्र में मुसीबत में फंसे बच्चे हों फोन करके आसानी से उन तक मदद पहुंचाई जा सकती है। यह टोल फ्री नंबर किस तरह कार्य करता है इसकी विस्तृत जानकारी दी। चाइल्डलाइन कॉल सेन्टर के बारे में बताया गया। मानव तस्करी के जाल किस तरह फैले हैं एवं उनसे कैसे बचा जा सकता है। बच्चों को हरेक बच्चे को मुफ्त व अनिवार्य शिक्षा का अधिकार है। गुमशुदा, बाल मजदूरी, शोषित बच्चेए बाल मजदूरी, घर से भागे बच्चे, बाल विवाह, जीने का अधिकार, सुरक्षा का अधिकार, अनाथ, दिव्यांग तथा अन्य कठिन परिस्थितियों में फंसे बच्चों की सहायता के लिए चाइल्डलाइन 24 घंटे कार्यरत है। इस दौरान ग्रामीणों ने बताया कि गांव में पांच बच्चे बीमार हैं, जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। इस दौरान काउंसलर कृतिका चैहान, शिक्षक देवेंद्र शर्मा, विजय लक्ष्‌मी यादव, गौरव आचार्य, सत्येन्द्र सिंह, राजेश मीणा, सुमनलता श्रीवास्तव, कौशल शर्मा, राधा कुशवाह, प्रेमचंद बैरवा उपस्थित रहे। ओपन हाउस प्रोग्राम में बच्चों के अधिकारों के बारे में जानकारी देते चाइल्डलाइन के कार्यकर्ता।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local