उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। उदयपुुर का एक किशोर होमगार्ड के संभागीय कार्यालय के पास बैठकर रोता दिखाई दिया। होमगार्ड कर्मचारी ने उससे पूछताछ की तो पता लगा कि एक व्यक्ति उसे अपने साथ अपनी दुकान पर काम कराने के लिए ले गया था। बाद में उसके साथ में मारपीट की। महाराष्ट्र से उदयपुर लौटते वक्त वह संबंधित व्यक्ति के चंगुल से भाग निकला और यहां पहुंच गया।

नागझिरी पुलिस ने बताया कि बुधवार को होमगार्ड के डिविजनल कमांडेंट के कार्यालय में लांस नायक राहुल जोशी डाक देने के लिए गया था। कार्यालय परिसर में एक किशोर रो रहा था। जब उससे बात की तो उसने बताया कि वह उदयपुर का रहने वाला है। वह एक कार से उतरकर वहां आया है। इसके बाद राहुल ने चाइल्ड लाइन व पुलिस को सूचना दी थी। चाइल्ड लाइन के टीम सदस्य जगमोहन बोराना व रेखा वासनिक ने किशोर से पूछताछ की तो उसने बताया कि उसका नाम पुष्कर पुत्र बग्गाजी उम्र 15 वर्ष निवासी ग्राम बैडासा तहसील लसाड़िया जिला उदयपुर का रहने वाला है।

चार हजार रुपये महीने में काम करने भेजा था

पुष्कर को उसके पिता ने कुछ दिन पूर्व कैलाश पावभाजी वाला निवासी रामपुर महाराष्ट्र को चार हजार रुपये महीने में काम करने के लिए साथ भेजा था। कैलाश उसे रामपुर ले गया था। वहां वह उससे पावभाजी की दुकान पर बर्तन मांजने का काम करवाता था। काम नहीं करने पर उसके साथ मारपीट करता था। किशोर रामपुर में पुलिस के पास गया था। वहां की पुलिस ने कैलाश को कहा था कि वह किशोर को वापस उदयपुर छोड़कर आए, जिस पर कैलाश उसे वापस उयदपुर ले जा रहा था। रास्ते में वह कार में उसे शराब के नशे में मारपीट कर रहा था। उज्जैन में कैलाश लघुशंका करने कार से उतरा तो किशोर कार से उतरकर भाग गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close