गंजबासौदा (नवदुनिया न्यूज)। वर्ष 2008 में शहर के ओसवाल परिवार द्वारा गंजबासौदा रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म एक पर रेल यात्रियों के लिए जल सेवा के लिए प्याऊ का निर्माण कराया गया था। जिसे अब रेलवे विभाग द्वारा तोड़ने की तैयारी की जा रही थी। इसकेलिए सोमवार को विभाग के कर्मचारियों द्वारा उक्त प्याऊ को तोड़ने के लिए सामग्री रख दी गई थी। लेकिन जैसे ही प्याऊ को जमीदोज करने की जानाकारी ओसवाल परिवार को लगी तो उन्होंने भोपाल से आए अधिकारी और स्टेशन प्रबंधक सुरेश पाल से मिलकर शहर के समाजसेवीयों ने चर्चा की काफी देर तक चली चर्चा के बाद यहा निराकरण निकला की अब ओसवाल परिवार उक्त प्याऊ का सुधार कार्य कर नल कनेक्शन लेकर दोबारा से प्याऊ को चालू कराएगा जिससे की रेल यात्रियों को पीने के लिए ठंडा पानी मिल सके।

सोमवार को शहर के समाजसेवियों ने रेवले स्टेशन पहुंचकर भोपाल से आए आईओडब्लू के अधिकारी दिनेश नरवरिय और सटेशन प्रबंधक सुरेश पाल से चर्चा की। इस दौरान बताया गया कि यह प्याऊ वर्ष 2008 में रेल यात्रियों को निश्शुल्क ठंडे पेयजल के लिए बनवाई थी। प्याऊ में वाटर कूलर भी लगवाया गया था। लेकिन कुछ सालों से प्याऊ बंद थी और क्षतिग्रस्त भी हो गई थी। समाजसेवियों ने रेलवे अधिकारी से मांग की है कि इस प्याऊ का जमीदेज न किया जाए क्योंकि गर्मी के दिनों में इस प्याऊ से कई लोगों को पीने का पानी मिलता है। चर्चा के दौरान सभी ने मंडल डीआरएम से भी चर्चा की और प्याऊ को नहीं तोड़ने का निवेदन किया। जिस पर विभाग के अधिकारियों ने आश्वासन दिया की प्याऊ को अब नहीं तोड़ा जाएगा। जानकारी देते हुए सुनील बाबू पिंगले ने बताया कि अधिकारियों के मिले आश्वासन के बाद फिलहाल प्याऊ को तोड़ने से अधिकारियों ने मना कर दिया है। वहीं ओसवाल परिवार द्वारा अब प्याऊ का सुधार कराया जाएगा और अलग से नल कनेक्शन लेकर पानी की व्यावस्था की जाएगी। इस चर्चा के दौरान डॉ लक्ष्‌मीकांत मरखेड़कर, हरिबाबू अग्रवाल, सौदान सिंह यादव, महेन्द्र सयूवंशी, विमलचंद ओसवाल सहित कई लोग मौजूद थे।

नवीन टीनशेड के बीच में आ रही प्याऊ

मालूम हो कि रेलवे विभाग ने कोरोना काल के समय स्टेशन के प्लेटफार्म एक पर टीनशेड का विस्तार किया है। यहां प्याऊ नवीन टीनशेड के बीच में है। काफी दिनों से बंद होने के कारण विभाग को लगा की प्याऊ अनउपयोगी हो गई है। इसलिए विभाग ने इस प्याऊ को तोड़ने की तैयारी कर ली थी। मजदूरों को भी बुला लिया गया था लेकिन ऐन वक्त पर प्याऊ का निर्माण करने वाले ओसवाल परिवार और शहर के समाज सेवियों ने पहुंचकर विभाग के अधिकारियों से निवेदन किया उसके बाद प्याऊ को तोड़ने का काम रोक दिया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local