नई दिल्ली। JNU में हुई हिंसा के बाद छात्रों से मिलने पहुंची Deepika Padukone विवादों में घिर गई हैं। छात्रों के बीच हुई हिंसा के बाद मंगलवार शाम को Deepika Padukone ने JNUSU अध्यक्ष आशी घोष से सहित अन्य छात्रों से मुलाकात की थी। दीपिका इस दौरान जेएनयू में लगभग 10 मिनिट तक रहीं थी। इस दौरान उन्होनें छात्रों की बातें सुनी थी हालांकि अपनी ओर से उन्होंने एक शब्द भी नहीं बोला था। Deepika Padukone के जेएनयू पहुंचने पर लोगों की मिली जुली प्रतिक्रिया सामने आई है। कुछ लोगों ने इस PM मोदी का विरोध करना बताया है। बता दें कि सोशल मीडिया पर दीपिका पादुकोण द्वारा अलग अलग मसलों पर पीएम मोदी पर कई बार कमेंट्स भी किए गए हैं।

PM मोदी के ट्वीट का नहीं दिया था रिस्पॉस

भाजपा की अगुवाई कर रहे नरेंद्र मोदी 2014 के चुनाव कैंपेन में पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार थे। उन्होंने 20 सितंबर 2013 को दीपिका पादुकोण को टैग करते हुए एक ट्वीट किया था जिसमें उन्होंने लिखा था ' डियर @deepikapadukone, 18 साल से 24 साल के वोटर्स को रजिस्ट्रेशन कराने के जागरुक करें। इस उम्र के बड़ी संख्या में युवाओं ने अब तक अपना रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है। EC की ड्राइव भी इसे लेकर चल रही है।'

पीएम मोदी के उस वक्त किए गए इस ट्वीट का deepika padukone ने Twitter पर कोई रिस्पॉस नहीं दिया था। हालांकि यह ट्वीट मोदी के पीएम बनने के पहले का था।

Deepika ने नोटबंदी की तारीफ की

प्रधानमंत्री बनने के बाद पीएम मोदी ने 8 नवंबर 2016 को नोटबंदी करने का ऐतिहासिक निर्णय लिया था। इसके अंतर्गत मोदी ने पांच सौ और हजार के नोटों को बंद करने की घोषणा कर दी थी। PM की इस घोषणा पर देशभर से मिली जुली प्रतिक्रियाएं सामने आईं थी। हालांकि उस वक्त deepika padukone ने पीएम के इस निर्णय की तारीफ की थी। दीपिका ने कहा था 'मैं सोचती हूं कि यह बड़ा समय है। यह सरकार का एक अपवाद स्वरुप निर्णय है...मैं इसके लिए सरकार को धन्यवाद देना चाहती हूं।'

पद्मावत फिल्म पर जम मचा बवाल

ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर बनी फिल्म पद्मावत की रिलीज को लेकर देशभर में हंगामा हो गया था। करणी सेना ने इसकी रिलीज रोकने के लिए देशभर में बवाल किया था। इस पर दीपिका पादुकोण ने आपत्ति दर्ज कराई थी। इस दौरान फिल्म को लेकर देशभर में हंगामा शुरू हो गया था। इस पर deepika padukone ने ट्वीट करते हुए अपरोक्ष रूप से सरकार पर निशाना साधा था। दीपिका ने ट्वीट कर लिखा था 'यह डरावना है, बहुत डरावना है। हमने हमारे भीतर क्या पाया है? और हम एक देश के तौर पर कहां पहुंच गए हैं? हम सिर्फ सेंसर बोर्ड को जवाब देने के लिए बाध्य हैं और मैं जानती हूं और विश्वास करती हूं कि फिल्म की रिलीज से हमें कोई नहीं रोक सकता है।'

स्वच्छ भारत के लिए मंत्री बनने की कही थी बात

फरवरी 2019 में मुंबई में आयोजित एक समारोह के दौरान जहां तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस मौजूद थे। जब दीपिका से सवाल किया गया कि क्या उन्हें राजनीति में दिलचस्पी है तो उन्होंने कहा था 'मैं स्वच्छता चाहती हूं, इसलिए मैं स्वच्छ भारत के लिए मंत्री बनना चाहूंगी।'

पीएम मोदी ने मार्च 2019 में फिर किया ट्वीट

मार्च 2019 में लोकसभा चुनाव के पहले वोटर्स को वोट डालने के लिए जागरुक करने के लिए पीएम मोदी द्वारा ट्वीट किया गया जिसमें अनुष्का शर्मा, आलिया भट्ट के साथ ही दीपिका पादुकोण को भी लोगों को जागरुक करने की अपील की गई थी। इसके बाद दीपिका पादुकोण ने लोगों से वोट डालने की अपील की थी।

Posted By: Neeraj Vyas

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस