पोर्ट ब्लेयर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को पहली बार अंडमान-निकोबार पहुंचे। नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वारा पहली बार तिरंगा फहराए जाने के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित एक कार्यक्रम में उन्होंने तीन द्वीपों को नया नाम दिया।

रॉस आइलैंड का नाम अब नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वीप होगा। नील आइलैंड को शहीद द्वीप और हैवलॉक आइलैंड को स्वराज द्वीप नाम दिया गया है।

30 दिसंबर, 1943 को नेताजी ने दूसरे विश्वयुद्ध में जापानियों द्वारा इन द्वीपों पर कब्जा किए जाने के बाद यहां पहली बार तिरंगा फहराया था।

इस मौके पर मोदी ने एक स्मारक डाक टिकट 'फर्स्ट डे कवर' और 75 रुपये का सिक्का भी जारी किया। नेताजी के नाम पर एक मानद विश्वविद्यालय की स्थापना की भी घोषणा की।

मोदी ने सेल्युलर जेल का भी दौरा किया। उन्होंने उस कोठरी में जाकर वीर सावरकर को नमन किया, जहां उनको कालापानी की सजा के दौरान बंद करके रखा गया था।

मोदी कुछ समय तक सावरकर की फोटो के सामने आंख बंद करके बैठे रहे। इसके अलावा उन्होंने मरीना पार्क में 150 फीट ऊंचा तिरंगा फहराया।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags