Love Horoscope Predictions 2023: नए साल वृषभ राशि वालों के लिए ढेर सारी खुशियां लेकर आने वाला है। नववर्ष आपको कुछ चुनौतियां भी देगा। यदि आप इस चुनौती को पार कर लेते हैं, तो जीवन खुशियों से भरा पहेगा। साल 2023 में आपको अपने जीवन में आने वाली चुनौतियों को यथार्थवादी तरीके से देखना चाहिए। आइए जानते हैं वृषभ राशि के जातकों को प्रेम जीवन 2023 में कैसा रहेगा।

दूरियां खत्म होंगी

वृषभ राशि के प्रेम राशिफल के अनुसार स्वामी शुक्र हैं। जिन्हें प्रेम का देवता माना जाता है। इसलिए इस राशिवालों के जीवन में प्यार की कमी नहीं होती है। इस राशि के जातक का इस साल विवाह सफल हो सकता है। साथ ही प्रेमियों के बीच अनबन चल रही है तो उसे कम करने में मदद मिलेगी।

प्रेम संबंधों में सफलता

वृषभ 2023 में बुध और गुरु से प्रभावित होंगे। इन ग्रहों का गोचर लाभकारी रहेगा। यह रोमांटिक और वैवाहिक सफलता पाने में कारगर होगा। प्रेम संबंधों की शुरुआत अच्छी रहेगी।

किसी अच्छे रिश्ते का प्रस्ताव मिलेगा

कुछ लोगों को इस साल अच्छे रिश्ते का प्रस्ताव मिल सकता है। जो पहले से रिलेशन में हैं, उनकी शादी होने की संभावना है। वृषभ प्रेमफल 2023 के अनुसार राहु का गोचर विवाह के बाद प्रवास की सुविधा प्रदान कर सकता है। कुंडली में सूर्य और बुध का गोचर से आपको अपने किसी मित्र से विवाह का प्रस्ताव मिल सकता है। साल के मध्य में ससुराल पक्ष से विवाद हो सकता है। अप्रैल और मई में मंगल की चाल आपको मुश्किलों का सामना करा सकती है।

प्रेम प्रसंग की अच्छी शुरुआत

आपका प्रेम जीवन गुरु और बुध ग्रह की युति से प्रभावित होगा। इन ग्रहों की चाल का सकारात्मक रहेगी। इसका असर रिश्तों पर पड़ेगा। प्रेम संबंध और दांपत्य जीवन अच्छा रहेगा।

क्या सिंगल लोगों को प्यार मिलेगा?

वृषभ राशि के लोग सिंगल हैं और किसी के साथ संबंध बनाना चाहते हैं। उनके लिए सितंबर का महीना अच्छा रहेगा। यदि आप किसी को प्रपोज करना चाहते हैं, तो यह महीना अच्छा है। नवंबर का महीना आपको उदास कर सकता है। कई उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है। वहीं मंगल और सूर्य विवाहित जोड़े में तनाव पैदा कर सकते हैं। जो लोग पार्टनर की तलाश में हैं। उन्हें दिसंबर में सफलता मिल सकती है।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह सें उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Kushagra Valuskar

  • Font Size
  • Close