UPI Payment Apps Update: यदि आप भी डिजिटल वॉलेट से ट्रांजेक्‍शन करते हैं तो यह आपके काम की खबर है। जल्‍द ही ऑनलाइन ट्रांजेक्‍शन को लेकर भी सीमा तय की जा सकती है। UPI पेमेंट ऐप जैसे Google Pay, PhonePe और अन्य जल्द ही ट्रांजैक्शन पर लिमिट लगा सकते हैं। न्यूज एजेंसी IANS के मुताबिक जल्द ही यूजर्स UPI पेमेंट ऐप्स के जरिए अनलिमिटेड पेमेंट नहीं कर पाएंगे। सभी पहलुओं पर व्यापक रूप से विचार करने के लिए एक बैठक हो चुकी है। इस बैठक में एनपीसीआई के अधिकारियों के अलावा, वित्त मंत्रालय और आरबीआई के वरिष्ठ अधिकारियों ने भी भाग लिया। 31 दिसंबर की समय सीमा को बढ़ाने के लिए कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है क्योंकि एनपीसीआई सभी विकल्पों का मूल्यांकन कर रहा है। यूनाइटेड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) समय के साथ भारत में सबसे अधिक उपयोग किए जाने वाले भुगतान तरीकों में से एक बन गया है। यह भुगतान मोड न केवल सुरक्षित है बल्कि उपयोग में भी बहुत आसान है। भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (NPCI), जो UPI डिजिटल पाइपलाइन का संचालन करता है, तीसरे पक्ष के UPI ऐप प्रदाताओं (TPAP) के लिए वॉल्यूम कैप को सीमित करने के लिए अपनी प्रस्तावित 31 दिसंबर की समय सीमा को लागू करने की संभावना है।

आगे यह हो सकता है

एनपीसीआई खिलाड़ी की मात्रा को 30 प्रतिशत तक सीमित करने के लिए प्रस्तावित 31 दिसंबर की समय सीमा को लागू करने के बारे में रिजर्व बैंक के साथ चर्चा कर रहा है। वर्तमान में इसका कोई वॉल्यूम कैप नहीं है, और Google Pay और PhonePe का बाजार में लगभग 80 प्रतिशत हिस्सा है। नवंबर 2022 में कंसंट्रेशन रिस्क से बचने के लिए एनपीसीआई ने थर्ड-पार्टी ऐप प्रोवाइडर्स (टीपीएपी) के लिए 30 फीसदी वॉल्यूम कैप का प्रस्ताव रखा था। हालांकि उम्मीद की जा रही है कि एनपीसीआई इस महीने के अंत तक यूपीआई मार्केट कैप लागू करने पर फैसला ले लेगा।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close