इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। इंदौर जिले में भारत शासन के मत्स्य पालन एवं डेयरी मंत्रालय के निर्देशानुसार 15 फरवरी तक अभियान चलाकर किसान क्रेडिट कार्ड बनाए जाएंगे। अभियान के अंतर्गत पात्र पशुपालक, दुग्ध उत्पादक संगठन को किसान क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराते हुए पशुपालन की गतिविधि से जोड़ा जाएगा। मत्स्य पालकों को भी किसान क्रेडिट कार्ड दिए जाएंगे।

यह जानकारी शनिवार को कलेक्टर मनीष सिंह ने अभियान की प्रगति की समीक्षा के लिए ली गई बैठक में दी। बैठक में अपर कलेक्टर अभय बेड़ेकर, उपायुक्त सहकारिता मदन गजभिए सहित विभिन्न बैंकों के प्रतिनिधि, पशु चिकित्सा तथा मत्स्य पालन विभाग के अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में बताया गया कि जिले में पशु पालकों तथा मत्स्य पालकों के क्रेडिट कार्ड अभियान बनाकर बनाए जा रहे हैं। जिले में इस अभियान के तहत वर्तमान में 11 हजार प्रकरण तैयार किए जा रहे हैं। कलेक्टर मनीष सिंह ने निर्देश दिए हैं कि निर्धारित लक्ष्य की पूर्ति समय-सीमा में की जाए। इस कार्य में लापरवाही नहीं बरती जाए।

गाय-भैंस के लिए मिलेगी राशि - बैठक में बताया गया कि पशुपालन की गतिविधियों में पशुपालक के किसान क्रेडिट कार्ड लिंक होने पर पशुचारा, दाना, बाटा क्रय करने हेतु बैंक शाखा द्वारा प्रति गाय 15 हजार रुपये एवं प्रति भैंस 18 हजार रुपये राशि तीन माह के लिए दी जाएगी। पशुपालक इसे तीन माह में जमा करके पुनः आवश्यकता अनुसार राशि प्राप्त कर सकते हैं। अभियान के आवेदन पत्र तैयार करने के लिए कृषक, पशुपालक निकट के पशु चिकित्सा संस्था प्रभारी से संपर्क करके आवेदन पत्र तैयार करवाएं। आवेदन पत्र के साथ कृषक को जमीन की खसरा नकल, राशन कार्ड, पेन कार्ड, आधार कार्ड एवं बैंक के किसान क्रेडिट कार्ड का खाता क्रमांक उपलब्ध कराना होगा।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close