LIVE Agnipath Protests: सेना में 'अग्निपथ' योजना के तहत अग्निवीरों की भर्ती की केंद्र सरकार की योजना का विरोध देशभर में फैल गया है। इस बीच, सेना प्रमुख मनोज पांडे ने बड़ा ऐलान किया है कि इस भर्ती के तहत 2 दिन में नोटिफिकेशन जारी कर दिया जाएगा। पहले दल का प्रशिक्षण दिसंबर 2022 में शुरू होगा, सक्रिय सेवा 2023 के मध्य में शुरू होगी। वहीं एयरफोर्स ने भी कहा है कि 24 जून से भर्ती प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। वहीं राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) ने भी #अग्निपथ_योजना का समर्थन करते हुए कहा है कि इससे उन युवाओं को लाभ होगा जो सेना में जाकर देश की सेवा करना चाहते हैं। इससे पहले बिहार में छात्रों ने आज भी ट्रेनों को निशाना बनाया है। वहीं विरोध की यह आग मध्य प्रदेश के इंदौर शहर तक पहुंच गई है। यहां प्रदर्शनकारियों ने रेलवे स्टेशन पहुंचकर हंगामा किया। हरियाणा में प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज करना पड़ा है। साथ ही इंटरनेट भी बंद किया गया है। वाराणसी में बसों पर पथराव किया गया है तो राजस्थान में प्रदर्शनकारियों पर फायरिंग की सूचना है। झारखंड में भी बवाल हो रहा है। पूरे मामले पर राजनीति भी शुरू हो गई है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट किया, 'अग्निपथ - नौजवानों ने नकारा, कृषि कानून - किसानों ने नकारा, नोटबंदी - अर्थशास्त्रियों ने नकारा, GST - व्यापारियों ने नकारा, देश की जनता क्या चाहती है, ये बात प्रधानमंत्री नहीं समझते क्यूंकि उन्हें अपने ‘मित्रों’ की आवाज़ के अलावा कुछ सुनाई नहीं देता।'

दिल्ली मेट्रो के सभी गेट बंद

दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए शुक्रवार को दो स्टेशनों के तीन गेट बंद कर दिए। डीएमआरसी ने एक ट्वीट में कहा, 'आईटीओ मेट्रो स्टेशन के सभी गेट बंद हैं, जबकि ढांसा बस स्टैंड मेट्रो स्टेशन के दो गेट बंद हैं।' अखिल भारतीय छात्र संघ (आइसा) के सदस्यों के साथ कई छात्रों ने सशस्त्र बलों में भर्ती के लिए केंद्र सरकार की 'अग्निपथ' योजना का विरोध किया और इसे वापस लेने की मांग की।

सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर हिंसक विरोध प्रदर्शन में 1 की मौत, 8 घायल

तेलंगाना के सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर विरोध प्रदर्शन के हिंसक होने से एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि आठ अन्य घायल हो गए।

LIVE Agnipath Protests: विरोध प्रदर्शन के बीच सेना और सरकार की प्रतिक्रिया

विरोध प्रदर्शन के बीच सरकार और सेना ने योजना के फायदे गिनाए हैं। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ ही केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा है कि युवाओं को योजना के बारे में सही-सही जानकारी हासिल करना चाहिए। इसका उद्देश्य युवाओं को रोजगार देना और सेना में क्षमता को बढ़ाना है। वहीं सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने कहा, हम अपने युवाओं से भारतीय सेना में 'अग्निवर' के रूप में शामिल होने के इस अवसर का लाभ उठाने का आह्वान करते हैं।

LIVE Agnipath Protests: रेलवे ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर

Image

यहां भी क्लिक करें: अग्निपथ बवाल के बीच देशभर में 200 ट्रेनें प्रभावित, 35 रद्द, यहां देखें List

बिहार: प्रदेश भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल के निवास पर प्रदर्शनकारियों ने हमला किया। देखिए तस्वीरें

Image

Image

Image

Image

LIVE Agnipath Protests: सरकार ने किया बड़ा बदलाव

केंद्र सरकार ने गुरुवार रात एक बड़ा फैसला लेते हुए 'अग्निपथ' योजना के तहत अग्निवीरों की भर्ती के लिए अधिकतम आयु सीमा बढ़ाकर 23 वर्ष कर दी है। इस योजना के तहत भर्ती की न्यूनतम आयु 17.5 वर्ष और अधिकतम आयु 21 वर्ष है, लेकिन इस वर्ष के लिए अधिकतम आयु सीमा में दो वर्ष की छूट दी गई है। योजना के बढ़ते विरोध के बीच सरकार ने इससे जुड़े तथ्य भी स्पष्ट कर दिए हैं। योजना को लेकर फैलाए जा रहे भ्रम और आलोचना को खारिज करते हुए सरकार ने कहा है कि न तो सेना के रेजिमेंटल सिस्टम में कोई बदलाव होने वाला है और न ही सेना की क्षमता पर कोई प्रतिकूल प्रभाव पड़ने वाला है। यह योजना युवाओं के साथ-साथ सेना के लिए भी काफी फायदेमंद साबित होगी, क्योंकि चार साल की सेवा के बाद मिलने वाले आर्थिक पैकेज से युवाओं के पास अपना भविष्य संवारने के कई विकल्प होंगे।

यहां भी क्लिक करें: दौर में अग्निपथ योजना के खिलाफ रेलवे ट्रैक पर हंगामा, ट्रैन रोकने की थी योजना

बिहार में आज भी बवाल, ट्रेनों को बनाया निशाना

बिहार में आज भी विरोध प्रदर्शन जारी है। जानकारी के मुताबिक, बछ्वाड़ा पटोरी रेलखण्ड पर मोहीउद्दीननगर मे अग्निपथ योजना के विरोध मे छात्रों ने लोहित एक्सप्रेस की आठ बोगियों में आग लगा दी। पटोरी के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के साथ मारपीट करने और सर फोड़े जाने की भी सूचना है। उपद्रवियों ने कई सरकारी गाड़ियों में तोड़फोड़ की है।

वीडियो: तेलंगाना के सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन में तोड़फोड़ की गई और #AgnipathRecruitmentScheme का विरोध कर रहे आंदोलनकारियों ने एक ट्रेन में आग लगा दी। देखिए वीडियो

आयु सीमा बढ़ाने पर रक्षा मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा, पिछले दो वर्षों के दौरान भर्ती संभव नहीं होने की बात का संज्ञान लेते हुए सरकार ने 2022 के लिए प्रस्तावित भर्ती में एकमुश्त छूट देने का फैसला किया है। अग्निपथ योजना के तहत 2022 के लिए भर्ती की ऊपरी आयु सीमा को बढ़ाकर 23 वर्ष कर दिया गया है।

सरकार ने मिथ वर्सेज फैक्ट्स नामक एक दस्तावेज जारी करके योजना के बारे में फैलाई जा रही भ्रांतियों और गलत सूचनाओं को भी दूर कर दिया है। इसके अलावा सरकार की सूचना प्रसार इकाई यानी प्रेस सूचना कार्यालय (पीआईबी) ने भी इंटरनेट मीडिया पर एक के बाद एक कई पोस्ट के जरिए स्थिति स्पष्ट की है।

आने वाले वर्षों में तीन बार होगी अग्निवीर की भर्ती

पीआईबी ने कहा है कि इस योजना के तहत पहले वर्ष में जितने जवानों यानि अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है, वह सेना की कार्यबल की संख्या का केवल तीन प्रतिशत है। साल दर साल भर्ती होने वाले अग्निशामकों की संख्या में वृद्धि होगी और आने वाले वर्षों में यह संख्या आज की तुलना में तीन गुना तक हो जाएगी। उन्होंने यह भी साफ कर दिया है कि सेना के रेजिमेंटल सिस्टम में कोई बदलाव नहीं किया जा रहा है, बल्कि, यह योजना सर्वश्रेष्ठ अग्निवर के चयन के साथ रेजिमेंटों के बीच सामंजस्य को और मजबूत करेगी।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close