लखनऊ, ब्‍यूरो। भारतीय जनता पार्टी और समाजवादी पार्टी उत्तर प्रदेश में दंगे के आरोपियों को सम्मानित करने को एक दूसरे के साथ नजर आ रही हैं। गुरुवार को बरेली की सपा रैली में मौलाना तौकीर मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव के बगलगीर रहे तो नरेंद्र मोदी के मंच पर विधायक संगीत सोम और सुरेश राणा सम्मानित हुए।

आगरा रैली में भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के मंच पर पहुंचने से एक घंटे पहले संगीत सोम और सुरेश राणा का नाम सम्मान के लिए पुकारा गया। तालियों की गूंज के बीच मंच से उन्हें निर्दोष भी करार दिया गया। प्रदेश भाजपा के वरिष्ठ नेता व सांसद लालजी टंडन ने सोम और राणा का माल्यार्पण कर अभिनंदन किया। पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कलराज मिश्र ने पगड़ी पहनाई तो पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सूर्य प्रताप शाही ने उन्हें शाल भेंट किया। नेताओं ने कहा कि मुजफ्फरनगर दंगे में विक्रम सैनी, राधेश्याम वाल्मीकि, घनश्याम और सहारनपुर के वीरेंद्र सिंह गुर्जर पर रासुका लगाई गई है, लेकिन पार्टी इनको निर्दोष मानती है। भाजपा इन सबकी लड़ाई लड़ेगी।

सांप्रदायिक उपद्रव को लेकर बरेली से सपा सरकार पर कई बार वार कर चुके इत्तेहाद ए मिल्लत कौंसिल के मुखिया मौलाना तौकीर रजा सपा के मंच पर सत्ता के खासमखास रहे। रैली शुरू होने से तकरीबन एक घंटे पहले मंच पर पहुंचे तौकीर सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का स्वागत करने वालों में भी रहे। बाद में उन्होंने कहा कि इस वक्त कुछ ताकतें देश को बांटने में जुट गई हैं। इसलिए मुलायम सिंह यादव को समर्थन देने की जरूरत है। बाद में मुलायम और आजम खां ने मौलाना का शुक्रिया भी अदा किया।

Posted By: