Mahashay Dharampal Gulati Passes away: देश में मसालों के बादशाह एमडीएच ग्रुप के मालिक महाशय धर्मपाल जी का गुरुवार सुबह स्वर्गवास हो गया। वे 98 साल के थे। 1 नवंबर को उन्होंने कोरोना हुआ था। हालांकि उन्होंने इस महामारी को तो मात दे दी थी। शुरुआती जानकारी के मुताबिक, कोरोना संक्रमण से ठीक होने के बाद हार्ट अटैक से उनका निधन हुआ है। महाशय धर्मपाल जी ने 5.38 बजे आखिरी सांस ली। उनका अंतिम संस्कार गुरुवार को ही किया जाएगा। उनके बारे में कहा जाता है कि वे भारत और पाकिस्तान के बंटवारे के समय केवल एक तांगा लेकर सियालकोट से भारत आए थे और दिल्ली में छोटी से दुकान से सफर शुरू किया था। आज वे एड की दुनिया का सबसे बड़ा नाम है।

सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि देते समय हुए थे भावुक

महाशय धर्मपाल पिछले साल भाजपा नेता सुषमा स्वराज के निधन पर श्रद्धांजलि देने पहुंचे थे और वहां भावुक हो गए थे। तब उनकी तस्वीर वायरल हुई थी। तब महाशय धर्मपाल गुलाटी भाजपा मुख्यालय पहुंचे थे और यहां सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि दी थी। पूर्व विदेश मंत्री सुषमा को श्रद्धांजलि देते वक्त धर्मपाल गुलाटी खुद की भावनाओं पर काबू नहीं रख सकें और भावुक होकर रोने लगे।वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें

पांचवीं फेल से अरबपति बनने तक का सफर

महाशय धर्मपाल जी महज पांचवीं पास थे। पांचवीं में फेल होने के बाद पिता जी ने उन्हें एक बढई की दुकान पर काम सीखने को भेजा। दो महीने के बाद धर्मपाल वह काम छोड़ आए। 15 साल की उम्र तक वह तांगा चलाने से लेकर साबुन बेचने तक के 50 काम कर चुके थे। इसके बाद उनके मन में मसाले बनाने का ख्याल आया। उन्होंने अपना काम करने का सोचा। (पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Republic Day
Republic Day