Ayodhya Ram Mandir Bhumi Pujan Images: 492 सालों के संघर्ष के बाद शुभ मुहूर्त आया जब बुधवार को राम मंदिर का भूमि पूजन हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर का भूमि पूजन किया और उन्होंने इसकी आधारशिला भी रखी। इस दौरान उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास मौजूद रहे। भूमि पूजन में 9 शिलाओं का पूजन किया गया।

इसके लिए पूरी अयोध्या को सजाया गया था और राम नगरी भक्ति और उल्लास के रंग में डूबी हुई थी। हर छत पर भगवा पताका लहरा रही थी और झिलमिलाते दीपक रामलला की आगवानी को आतुर नजर आया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में देशवासियों को राम मंदिर भूमि पूजन की बधाई दी। उन्होंने कहा कि सदियों का इंतजार खत्म हो गया और अब राम जन्मभूमि मुक्त हो गई। टाट की जगह अब मंदिर में रहेंगे भगवान राम। अब भगवान राम का भव्य मंदिर बनेगा। राम मंदिर भारतीय संस्कृति की समृद्ध विरासत का द्योतक होगा।

प्रधानमंत्री ने राम मंदिर निर्माण के लिए आधारशिला का पट्टिका का अनावरण किया। उन्होंने इसके बाद भगवान राम पर डाक टिकट भी जारी किया।

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने कहा कि करोड़ों-करोड़ों लोगों की इच्छा है कि रामलला का विराट मंदिर बने, जिसका शुभारंभ आज हो गया है।

RSS प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि पूरे देश में आनंद की लहर है, सदियों की आस पूरी होने का आनंद है। भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए जिस आत्मविश्वास और आत्म भान की आवश्यकता थी उस का शुभारंभ आज हो रहा है।

सबसे पहले यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संबोधित किया। उन्होंने सभी अतिथियों का राम की नगरी में स्वागत किया। उन्होंने कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कोर्ट के आदेश पर शांतिपूर्वक इस मसले का हल निकला है।'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके बाद भूमि पूजन किया और मंदिर की आधारशिला रखी। इस दौरान 9 शिलाओं का पूजन किया। दुनियाभर के राम भक्तों ने 1989 में 275000 शिलाएं भेजी थी। इनमें से जय श्री राम लिखी हुई 100 शिलाओं को लिया गया।

अभिजीत मुहूर्त में भूमि पूजन:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर का भूमि पूजन किया और आधारशिला रखी।

पारिजात का पौधा लगाया:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके बाद मंदिर परिसर में पारिजात का पौधा लगाया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके बाद मंदिर परिसर में पारिजात का पौधा लगाया। पारिजात के पौधे का पौराणिक और आयुर्वेदिक महत्व है। इस वजह से इसे पवित्र माना जाता है। भगवान की पूजा में इसके फूलों का उपयोग होता है। मां सीता ने वनवास के दौरान इसी फूल से अपना श्रृंगार किया था।

रामलला के दर्शन किए:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके बाद रामलला के दर्शन किए। उन्होंने साष्टांग दंडवत प्रमाण किया। इसके बाद उन्होंने पूजन किए। इसी के साथ इतिहास रचा गया क्योंकि अयोध्या में रामलला के दर्शन करने वाले नरेंद्र मोदी देश के पहले प्रधानमंत्री बने।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर भूमि पूजन के लिए बुधवार को अयोध्या पहुंचे। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हैलीपेड पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत किया। प्रधानमंत्री मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हनुमान गढ़ी मंदिर पहुंचे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंदिर पहुंचकर पहले हाथ धोए और फिर सीएम योगी के साथ चर्चा करते हुए पूजा करने पहुंचे। पीएम मोदी को भगवा साफा और मुकुट पहनाया गया।

RSS प्रमुख मोहन भागवत भी पहुंचे:

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के प्रमुख मोहन भागवत भी राम मंदिर भूमि पूजन स्थल पर पहुंचे। मोहन भागवत भूमि पूजन समारोह के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मंच पर मौजूद रहेंगे।

अतिथियों के पहुंचने का सिलसिला शुरू:

उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और भाजपा उपाध्यक्ष उमा भारती भूमि पूजन कार्यक्रम स्थल पहुंच चुके हैं।

प्रधानमंत्री दिल्ली से रवाना:

प्रधानमंत्री राम मंदिर भूमि पूजन के कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए दिल्ली से रवाना हुए। वे धोती-कुर्ता पहनकर इस समारोह के लिए निकले हैं।

रामलला के दर्शन करेंगे पीएम मोदी:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या पहुंचने के बाद आज रामलला के दर्शन भी करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी सबसे पहले हनुमान गढ़ी जाएंगे। इसके बाद वे रामलला के दर्शन करेंगे। रामलला के मंदिर को सजाया गया है।

हनुमान गढ़ी को किया गया सैनिटाइज:

कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से इस समारोह के दौरान पूरी सावधानी बरती जा रही है। प्रधानमंत्री मोदी अयोध्या पहुंचने के बाद सबसे पहले हनुमान गढ़ी जाने वाले हैं। इसके चलते बुधवार सुबह हनुमान गढ़ी मंदिर में सैनिटाइजेशन का काम किया गया। मंदिर के कोने-कोने को सैनिटाइज किया गया।

अभिजीत मुहुर्त:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ काशी विद्वत परिषद के तीन सदस्य पूजा में बैठेंगे। प्रो. रामचंद्र पांडेय आज पीएम मोदी के साथ बतौर साक्षी पूजा में बैठेंगे। 12 बजकर 40 मिनट 8 सेकंड पर मंदिर की आधारशिला रखी जाएगी। काफी विचार विमर्श के बाद ग्रहों और नक्षत्रों के हिसाब से भूमि पूजन के लिए दिन में 12:44:08 से 12:44:40 बजे के बीच का समय तय किया गया। ये 32 सेकंड सबसे महत्वपूर्ण रहेंगे।

LIVE Ram Mandir Bhoomi Pujan : संबंधित खबर पढ़ने के लिए हैडिंग पर क्लिक करें

दूरदर्शन पर राम मंदिर पर भूमि पूजन का सीधा प्रसारण, अपने मोबाइल पर यहां देखें

Ram Mandir Bhumi Pujan से पहले PM Modi लगाएंगे पारिजात का पौधा, जानिए क्या है इसका महत्व

सोशल मीडिया में आई बधाईयों की बाढ़, लोग मना रहे दिवाली, कर रहे यह अपील

मंच पर रहेंगे ये अतिथि:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मंच पर उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास मौजूद रहेंगे।

Posted By: Kiran K Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020